ALL Crime Politics Social Education Health
सीएए के विरोध प्रदर्शन में कानपुर भी पीछे नहीं, प्रदर्शनकारियों का कहना प्रदर्शन निरंतर जारी रहेगा।
February 22, 2020 • मोंटू राजा

सीएए और एनआरसी का विरोध प्रदर्शन थमने का नाम नहीं लेरहा। देशभर में विरोध प्रदर्शन कर रहे हजारों लाखों लोग सड़कों पर उतरे हैं। कई राज्यों के अंदर चाहे वह दिल्ली हो लखनऊ हो मुंबई बेंगलुरु आदि अनेक राज्यों में सीएए और एनआरसी को लेकर विरोध प्रदर्शन जारी है।

वही उत्तर प्रदेश के कानपुर शहर में मोहम्मद अली पार्क चमनगंज में महिलाओं का सीएए और एनआरसी को लेकर शांतिपूर्वक विरोध प्रदर्शन जारी है। हालांकि पहले मोहम्मद अली पार्क का यह आंदोलन विवादों में आ चुका है प्रशासन ने धरना प्रदर्शन कर रहे लोगों को जगह से हटने का आदेश दिया था जिसके बाद माहौल थोड़ा गर्म हुआ और पाक को खाली करवा लिया गया था।

परंतु महिलाएं प्रदर्शन करने फिर सड़क पर उतरी जिसके बाद प्रशासन को सड़क खाली करवाने के लिए दोबारा प्रदर्शनकारियों से वार्ता कर उन्हें मोहम्मद अली पार्क में प्रदर्शन करने की इजाजत दी। 

प्रदर्शनकारियों से एंटी करप्शन इंडिया के संवाददाता ने बातचीत की और जाना कि वह सीएए और एनआरसी को लेकर क्यों विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं और आने वाले समय में प्रदर्शन को कैसे आगे तक लेकर जाएंगे और किन मुद्दों पर सीएए उनके खिलाफ है। वह कैसे सी.ए.ए, एन.आर.सी.आर, एनपीआर को वह देखते हैं।

जनता से बात करने पर प्रदर्शन कर रही जनता ने बताया कि वह सीएए और एनआरसी के विरोध में धरना प्रदर्शन जारी रखेंगे जब तक सरकार सीएए एनआरसी को वापस नहीं ले लेती तब तक यह धरना चलता रहेगा। यह धरना किसी जाति धर्म के लिए नहीं बल्कि देश के संविधान को बचाने के लिए है।

सपा के एक नेता मोहम्मद हनीफ से हमारे संवाददाता ने बातचीत की जिस पर उन्होंने  ए एम यू आई के नेता वारिस पठान के बयान को भी निंदनीय बताया।