ALL Crime Politics Social Education Health
नहीं रहीं गुजरे जमाने की अदाकारा निम्मी
March 26, 2020 • आशू यादव

*कानपुर ब्रेकिंग*

*आशू यादव की खास रिपोर्ट SUB  ब्यूरो चीफ कानपुर*
➖➖➖➖➖➖➖


            *नहीं रहीं गुजरे जमाने* *की अदाकारा निम्मी, 'बरसात' से की थी करियर की शुरुआत*
*निम्मी (Nimmi) का अंतिम संस्कार (Last Rites) गुरुवार यानि 26 मार्च को होगा. 50 के दशक में अपने करियर की शुरुआत करने वाली निम्मी के करियर की शुरुआत 'बरसात' (Barsaat) फिल्म से हुई थी*✒️
    
*नहीं रहीं गुजरे जमाने की *अदाकारा निम्मी, 'बरसात' से की थी करियर की शुरुआत*
*निम्मी (Nimmi) का अंतिम संस्कार (Last Rites) गुरुवार *यानि 26 मार्च को होगा. 50 के दशक में अपने करियर की *शुरुआत करने वाली निम्मी के करियर की शुरुआत 'बरसात' (Barsaat) फिल्म से *हुई थी.*
*बुजुर्गों को शिकार बना रहा है कोरोना वायरस, ऐसे रखें उनका ख्याल*

*LAST UPDATED: MARCH 26, 2020, 12:48* 
*मुंबई. गुजरे जमाने की अदाकार* *Veteran Actress) निम्मी* *Nimmi) का निधन हो गया है*. निम्मी ने *सांताक्रूज के एक* *प्राइवेट* *हॉस्पिटल (Private* *Hospital) में* *आखिरी सांस* *ली*. *निम्मी* *87 साल* *की थीं और बढ़ती उम्र के* *चलते कई बीमारियों से पीड़ित थीं. वे कई महीनों से* *व्हीलचेयर (Wheelchair) पर* *ही जिंदगी गुजार रही थीं.*
*निम्मी का अंतिम संस्कार* *Last Rites) गुरुवार यानि 26 मार्च को होगा. 50 के दशक में अपने करियर की शुरुआत करने वाली निम्मी के करियर की शुरुआत 'बरसात' (Barsaat) फिल्म से हुई थी.*
*अदाकार निम्मी को कहा जाता था राजकुमार की खोज*✒️
     *गुजरे जमाने की अदाकार* *निम्मी (Nimmi) का 50 और 60 के दशक में* *स्टारडम था. उन्होंने 'बरसात' फिल्म से डेब्यू किया था. जिसके बाद उन्होंने 'अमर', 'दाग', 'बसंत* *बहार', 'मेरे महबूब', 'दीदार' और 'कुंदन' जैसी फिल्मों में भी काम किया.*
*बता दें कि निम्मी को राज कपूर की पहली खोज भी कहा जाता था. उनका असली नाम 'नवाब बानो' था. निम्मी ने एस अली राजा से शादी की थी, जिनका 2007 में ही निधन हो गया था. निम्मी ने अपनी बहन के बेटे को* *गोद लिया *Adopt) *था*.
*राजकपूर अपनी फिल्म में लेने पर अड़े*✒️
    
मनोरंजन
क्रिकेट
कोरोना वायरस
MP का संग्राम
जीवन संवाद
लेटेस्ट खबरें
नॉलेज
मनी
करियर/ जॉब्स
फोटोगैलरी
देश
प्रदेश
क्राइम
कार्टून कॉर्नर
Live TV


अगली ख़बर
बुजुर्गों को शिकार बना रहा है कोरोना वायरस, ऐसे रखें उनका ख्याल
नहीं रहीं गुजरे जमाने की अदाकारा निम्मी, 'बरसात' से की थी करियर की शुरुआत
निम्मी (Nimmi) का अंतिम संस्कार (Last Rites) गुरुवार यानि 26 मार्च को होगा. 50 के दशक में अपने करियर की शुरुआत करने वाली निम्मी के करियर की शुरुआत 'बरसात' (Barsaat) फिल्म से हुई थी.
बुजुर्गों को शिकार बना रहा है कोरोना वायरस, ऐसे रखें उनका ख्याल
NEWS18HINDI
LAST UPDATED: MARCH 26, 2020, 12:48 AM IST
मुंबई. गुजरे जमाने की अदाकार (Veteran Actress) निम्मी (Nimmi) का निधन हो गया है. निम्मी ने सांताक्रूज के एक प्राइवेट हॉस्पिटल (Private Hospital) में आखिरी सांस ली. निम्मी 87 साल की थीं और बढ़ती उम्र के चलते कई बीमारियों से पीड़ित थीं. वे कई महीनों से व्हीलचेयर (Wheelchair) पर ही जिंदगी गुजार रही थीं.
निम्मी का अंतिम संस्कार (Last Rites) गुरुवार यानि 26 मार्च को होगा. 50 के दशक में अपने करियर की शुरुआत करने वाली निम्मी के करियर की शुरुआत 'बरसात' (Barsaat) फिल्म से हुई थी.
अदाकार निम्मी को कहा जाता था राजकुमार की खोज

गुजरे जमाने की अदाकार निम्मी (Nimmi) का 50 और 60 के दशक में स्टारडम था. उन्होंने 'बरसात' फिल्म से डेब्यू किया था. जिसके बाद उन्होंने 'अमर', 'दाग', 'बसंत बहार', 'मेरे महबूब', 'दीदार' और 'कुंदन' जैसी फिल्मों में भी काम किया.
बता दें कि निम्मी को राज कपूर की पहली खोज भी कहा जाता था. उनका असली नाम 'नवाब बानो' था. निम्मी ने एस अली राजा से शादी की थी, जिनका 2007 में ही निधन हो गया था. निम्मी ने अपनी बहन के बेटे को गोद लिया (Adopt) था.
राजकपूर अपनी फिल्म में लेने पर अड़े


*उड़न खटोला', 'आन* *भाई-भाई', 'मेरे महबूब' और* *'पूजा के फूल' जैसी फिल्मों (Films) में निभाए गए उनके किरदारों के चलते भी याद किया जाता है.*
*कहा जाता है कि अपने करियर के शुरुआत में निम्मी का स्टारडम* *(Stardom) और डिमांड बहुत *अच्छी थी. कहा जाता है कि राज कपूर उन्हें अपनी एक फिल्म *में लेने के लिए लगभग अड़ गए थे. निम्मी ने राज कपूर (Raj Kapoor), अशोक कुमार और *धर्मेंद्र जैसे कई बड़े एक्टरों के साथ काम किया.*
*हालांकि बाद के दौर में निम्मी ने अपने करियर को लेकर असंतुष्टि* *जताई थी. 1993 में उन्होंने एक इंटरव्यू में कहा था कि उन्हें अच्छे रोल ऑफर नहीं हुए. इंटरव्यू (Interview) में उन्होंने यह भी कहा था, 'आज भी मेरे अंदर वह ख्वाहिश बाकी है.*✒️✒️✒️✒️✒️