ALL Crime Politics Social Education Health
मज़दूरों का ‘मसीहा’ बताए जाने पर बोले सोनू सूद- मज़दूर देश के मसीहा हैं, उनका कोई मसीहा नहीं।
May 31, 2020 • M Rizwan • Social

मज़दूरों का ‘मसीहा’ बताए जाने पर बोले सोनू सूद- मज़दूर देश के मसीहा हैं, उनका कोई मसीहा नहीं*

 

31/05/2020 M RIZWAN 

 

बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद लॉकडाउन में अपने नेक कार्यों की वजह से पूरे देश में चर्चा का विषय बने हुए हैं। गरीब से लेकर अमीर तक सभी की ज़ुबान पर सोनू सूद हैं। अभी तक 15000 प्रवासी श्रमिकों को अपने खर्चे पर उनके घर भेज चुके सोनू सूद मानते हैं कि ‘मजदूर’ इस देश के मसीहा हैं।

ट्वीटर पर एक यूजर देवेश उपाध्याय ने फोटो शेयर की है जिसमें लिखा हुआ है कि सोनू सूद असली हीरो हैं। इस फोटो पर देवेश ने लिखा है कि, ‘इस देश का एक ही मसीहा है। सोनू भईया आप पर गर्व है।’

 

*ट्वीटर पर इस यूजर का जवाब देते हुए सोनू सूद ने लिखा कि, मज़दूर हमारे देश के मसीहा हैं। उनका कोई मसीहा नहीं हो सकता*

 

https://twitter.com/SonuSood/status/1266438092233162752?s=19

 

 

ऐसे समय में मोदी सरकार से लेकर विपक्ष तक सभी मजदूरों के नाम की राजनीति खेल रहे हैं, मजदूरों के कंधों पर हाथ रखकर वोट पाना चाहते हैं। तब सोनू सूद बिना किसी लाभ के निःस्वार्थ भाव से प्रवासी श्रमिकों की सेवा करने में लगे हुए हैं।

 

बता दें कि शुक्रवार को सोनू ने केरल में फंसे 167 लोगों को हवाई जहाज से ओडिशा की राजधानी भुवनेश्वर पहुंचाया। 167 लोगों की यात्रा के लिए सोनू सूद ने उनसे कोई पैसे भी नहीं लिए। ये सभी मजदूर जिसमें 147 महिला और 20 पुरुष थे। सभी लोग केरल में सिलाई का काम करते थे।