ALL Crime Politics Social Education Health
कोरोना वायरस से निपटने के लिए कानपुर शहर का उर्सला अस्पताल मुस्तैद
March 18, 2020 • Montoo raja

 प्रदेश के कानपुर शहर में स्थित उर्सला अस्पताल के चीफ  मेडिकल सुपरिटेंडेंट डॉ शैलेंद्र तिवारी से करोना वायरस को लेकर एंटी करप्शन इंडिया के चीफ एडिटर अतहर हुसैन की खास वार्ता


विश्व भर में है कोरोनावायरस का खौफ, हजारों की संख्या में अलग-अलग देशों के अंदर करोना वायरस के पीड़ित देखने को मिल रहे हैं और हजारों की संख्या में लोगों की मृत्यु भी हो रही है जोकि करोना वायरस इंफेक्शन के चलते हुई है।

भारत में कारोना वायरस का पहला केस जनवरी 2020 में सामने आया जिसके चलते अब तक 18 मार्च 2020 तक कुल करोना वायरस पीड़ित केस 151 है जिसमें से 134 मरीज अस्पताल में है 14 ठीक हो चुके हैं और 3 की मृत्यु हो चुकी है। 

भारत सरकार ने कोरोनावायरस को एक महामारी घोषित कर दिया है जिसके चलते कई राज्यों के अंदर स्कूल कॉलेज शिक्षा संस्थान सिनेमाघर इत्यादि चीजें बंद की गई हैं जो 31 मार्च तक घोषित किया गया है। विशेषज्ञों के अनुसार कोरोना वायरस लोगों के संपर्क में आने से या ज्यादा भीड़भाड़ वाले क्षेत्र में पनप सकता है जिसके चलते सरकार ने स्कूल कॉलेज सिनेमाघर इत्यादि पर प्रतिबंध लगाकर उन्हें बंद रखने के आदेश दे दिए हैं।

वही उत्तर प्रदेश के कानपुर शहर में उर्सला अस्पताल के चीफ मेडिकल सुपरिटेंडेंट डॉक्टर शैलेंद्र तिवारी से एंटी करप्शन इंडिया के चीफ एडिटर अतहर हुसैन ने खास वार्ता में जानने का प्रयास किया, किस शहर का एक बड़ा अस्पताल होने के नाते कितनी अस्पताल में तैयारियां हैं किस तरह डॉक्टर तैयार हैं और कैसे मरीजों को उपचार देने के लिए तत्पर हैं। 


इसके अलावा आम जनता के लिए संदेश देने के लिए व कारोना वायरस से बचने के लिए चीफ मेडिकल सुपरीटडेंट डॉ शैलेंद्र तिवारी ने बताया की इसकी पहचान बुखार जुखाम सांस लेने में दिक्कत सर में दर्द करोनावायरस की पहचान हो सकती है। साथ ही चीफ मेडिकल सुपरिटेंडेंट डॉ शैलेंद्र तिवारी ने बताया आमजन को समय-समय पर हाथ धोना सैनिटाइजर मास्क लगाना और अधिक भीड़भाड़ वाली जगह पर जाने से बचें।

चीफ मेडिकल सुपरीटेंडेंट शैलेंद्र तिवारी ने यह भी बताया अस्पताल के डॉक्टर्स को अलग से ट्रेनिंग दी गई है जो अस्पताल का कर्मचारी है उनको भी पूरी ट्रेनिंग दी गई है करोना वायरस से निपटने के लिए पुख्ता इंतजाम किए गए हैं डॉक्टर की माने तो उर्सला अस्पताल कोरोना वायरस से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार है।