ALL Crime Politics Social Education Health
कमलनाथ ने दिया इस्तीफा, जीतू बोले- ये BJP का पीठ पर नहीं, भारत माता की छाती पर हमला है
March 20, 2020 • Shadab Hasan

कमलनाथ ने दिया इस्तीफा, जीतू बोले- ये BJP का पीठ पर नहीं, भारत माता की छाती पर हमला है

20/03/2020  मो  रिजवान 

17 दिन से चल रहे सियासी संग्राम के बाद आख़िरकार कमलनाथ ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। कमलनाथ ने ये इस्तीफ़ा सुप्रीम कोर्ट के आदेश के मुताबिक़ फ्लोर टेस्ट से पहले ही दे दिया। इस्तीफे की घोषणा कमलनाथ ने मुख्यमंत्री आवास पर एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के ज़रिए की।

इस दौरान उन्होंने पहले अपने 15 महीने के कामकाज बताए और फिर बीजेपी पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि इन 15 महीनों में राज्य का हर नागरिक गवाह है कि मैंने राज्य के लिए कितना काम किया। लेकिन बीजेपी को ये काम रास नहीं आए।

कमलनाथ ने कहा कि बीजेपी वाले मेरे खिलाफ पहले दिन से ही साजिश कर रहे थे। एक तथाकथित महाराज और 22 लोभी विधायकों के साथ मिलकर बीजेपी ने लोकतांत्रिक मूल्यों की हत्या की। मैं चाहता था कांग्रेस महल में नहीं,महल कांग्रेस में आये। पूरी प्रदेश की जनता के साथ विश्वासघात हुआ।

इस दौरान कमलनाथ भावुक भी हुए। उन्होंने सवाल करते हुए कहा कि मेरा क्या कसूर था मेरी क्या गलती थी। कमलनाथ ने कहा जब मैं केंद्र में था तब मैंने प्रदेश की बहुत मदद की। मुझे जनता ने 5 साल का मौका दिया था प्रदेश को नए रास्ते में लाने के लिए। मेरा क्या कसूर था मैंने हमेशा विकास में विश्वास रखा।

वहीं कमलनाथ के इस्तीफे के बाद कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी ने भाजपा पर तीखा हमला बोला है। उन्होंने ट्वीट के जरिये कहा- यदि अपहरण और धनबल से इस तरह सरकारें बनने और गिरने लगेगी तो फिर प्रजातंत्र का अंत नज़दीक है। जनता ने लोकतंत्र पर भरोसा दिखाकर सरकार बनाई और बीजेपी के अहंकार व अनैतिकता ने धनबल से सरकार गिरा दी। याद रहे ! ये पीठ पर नहीं, भारत माता की छाती पर हमला है।


बता दें कि कांग्रेस के 22 विधायकों के इस्तीफ़े के बाद मध्य प्रदेश विधानसभा में विधायकों की संख्या 206 हो गई है। अभी बीजेपी के 107 विधायक हैं जबकि कांग्रेस के पास स्पीकर मिलाकर 92 विधायक हैं। मौजूदा आंकड़े के तहत बहुमत का आंकड़ा 104 का है।