ALL Crime Politics Social Education Health
कानपुर शहर में पोस्टकार्ड और पतंग उड़ा कर किया सी. ए. ए और एनआरसी का विरोध
January 19, 2020 • m rizwa

कानपुर में पोस्टकार्ड एव पतंग उड़ा कर सीएए, एनआरसी का विरोध किया गया

कानपुर । सीएए, एनआरसी का विरोध पूरे देश मे हो रहा है । धीरे धीरे ये धरना ,प्रदर्शन असहयोग आंदोलन का रूप ले रहा है । इस कानून का विरोध यूनिवर्सिटियों से निकल कर सड़को से होता हुआ क्रिकेट  के मैदान तक पहुचं गया । इस कानून के विरोध में सभी वर्ग धर्म के लोग हिस्सा ले रहे हैं । इतने विरोध के बाद भी सरकार पीछे हटने को तैयार नही है ।बल्कि सरकार तानाशाही मोड पर आ चुकी है । जिस का उदाहरण दिल्ली में एनएसआर (राष्ट्रीय सुरक्षा कानून)लागू करना और लखनऊ के धरने स्थल पर कल लखनऊ पुलिस द्वारा की गई बर्बरता है ।
 कानून का विरोध प्रदर्शन शांति पूर्ण करने के संस्थाएं नए नए तरीके ढूंढ रही हैं । इसी कड़ी में कानपुर शहर के थाना चमनगंज अंतर्गत  हलीम कॉलेज ग्राउंड में आज सँविधान बचाओ समिति ने इस कानून के विरूद्ध पतंग उड़ाने का तथा राष्ट्रीय ओलमा कॉउंसिल ने पोस्टकार्ड मुहिम का कार्यक्रम रख्खा । 12 बजे दिन में समिति के सदस्यों के सैकड़ों की सख्या में लोग पहुँचे और पतंग उड़ाया । पतंगों पर Reject NRC,Repeal CAA,NPR लिखा था । इस कार्यक्रम में महिलाओं ने भी हिस्सा लिया । बड़ी तादाद में महिलाएं और पुरुष प्रधान मंत्री के को सीएए, एनआरसी के खिलाफ पोस्टकार्ड भरते हुए नज़र आये
हरविंदर सिंह लार्ड ने कहा जो हिन्दू और दूसरे भाई इस का विरोध नही कर रहे हैं वो नोट बन्दी की तरह बाद में पछताएं गए ।

आप को बताते चले सँविधान बचाओ समिति इस पहले शान्तिपूर्ण तरीके से कैंडिल मार्च एव एक हफ्ते तक मो.अली पार्क में 4 घण्टे का धरने के आयोजन कर चुके हैं । जिस को बाद में महिलाओं ने धरने की जिम्मेदारी खुद ले ली थी । जो आज तक शांति पूर्ण तरीके से चल रहा है ।