ALL Crime Politics Social Education Health
जंग और महामारी मिलकर कैसी तबाही मचाते रहे हैं
April 5, 2020 • आशू यादव • Social

*आशू यादव की खास रिपोर्ट SUB Bureau Chif Kanpur*✒️✒️
➖➖➖➖➖➖➖➖

*जंग और महामारी मिलकर कैसी तबाही मचाते रहे हैं इतिहास इसका गवाह रहा है*
➖➖➖➖➖➖➖➖
   *पुलिस प्रशासन की इस बात की तैयारी जोरों पर है कि वायरस को फैलने से रोका जा सके*
➖➖➖➖➖➖➖➖


  *SI रेलवे कॉलोनी चौकी इंचार्ज गोविंद नगर    भूपेंद्र चौहान का कहना है कि मैं ईश्वर से प्रार्थना कर रहा हूं कि वह हमारे सभी देशवासियों को वायरस के प्रकोप से बचाए रखें*
➖➖➖➖➖➖➖➖
*भूपेंद्र सिंह चौहान से पूछिए अपनी दिन-रात की मेहनत ड्यूटी करके निभा रहे हैं और जनता को बचा रहे हैं धूप में खड़े होकर उस ड्यूटी को निभा रहे हैं खून पसीना एक कर देते हैं लेकिन कानपुर के लोगों को नहीं समझ में आता*


*कोरोना वायरस का प्रकोप पूरी दुनिया में फैला हुआ है। भारत के अलावा कई देश पूरी तरह लॉकडाउन पर हैं। ऐसा ही हाल पड़ोसी देश कानपुर उत्तर प्रदेश का भी है। लेकिन कानपुर उत्तर प्रदेश में इस लॉकडाउन की धज्जियां वैसे ही उड़ाई जा रही हैं जैसे वहां हर सरकारी फैसलों की उड़ाई जाती है। आपको बता दें कि कानपुर उत्तर प्रदेश में कई प्रांतों में लॉकडाउन है और बाइक पर दोहरी सवारी पर भी पाबंदी लगी हुई है। इसके बावजूद लोग लॉकडाउन का उल्‍लंघन करने से बाज नहीं आ रहे। सभी लोग अपने घर पर बैठिए पुलिस प्रशासन की मदद करिए जो आप लोग इतना गंदा काम करते हैं ना अगर पुलिस कानपुर में राउंड मारती है तो आप लोग छुप जाते हो ऐसा मत करो अपने आप को आप लोग खुद नहीं बचाना चाहते हो*
➖➖➖➖➖➖➖
*पुलिस का कहना है कि कोरोना वायरस के प्रकोप के मद्देनजर जनता खुद को घरों तक सीमित रखें, बेजरूरत बाहर न निकलें। उल्‍लेखनीय है कि कानपुर उत्तर प्रदेश के कई प्रांतों में कोरोना वायरस  है। हालांकि इसके बावजूद लोग लॉकडाउन का उल्‍लंघन करने से बाज नहीं आ रहे। मार्किट और निजी संस्‍थान बंद होने के बावजूद कनपुरिया मानते नहीं की आवाजाही रुक नहीं रही। वहीं 3 सवारी पर कनपुरिया को आता है मजा अपना जीवन डाल रहे हैं खतरे में उसके बावजूद लगातार इसके उल्‍लंघन के मामले भी सामने आ रहे है।   कानपुर में तो लड़कों ने सब कुछ छोटा सा खेल बना दिया है तीन सवारी बाइक पर निकल जाते हैं पुलिस का कोई खौफ नहीं दिखता इनको  उसके बावजूद नागरिकों द्वारा लगातार गैरजिम्मेदारी भरी घटनाएं सामने आ रही हैं।*