ALL Crime Politics Social Education Health
जनता कर्फ्यू के चलते पुलिस के दो रूप
March 22, 2020 • Montoo raja

22 मार्च 2020 देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा जनता कर्फ्यू का ऐलान।

विश्व भर में करुणा वायरस के प्रकोप से तकरीबन हर देश जूझ रहा है वहीं भारत भी अछूता नहीं है। सरकार ने करुणा वायरस को महामारी करार दिया है जिसके चलते विश्व अपनी तैयारियों में लगा है वहीं भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 22 मई 2020 को जनता कर्फ्यू का ऐलान कर लोगों से अपील की कि वह घर से बाहर ना निकले।

कोरोना वायरस जिसे covid 19 भी कहा जाता है, लोगों को छूने या ज्यादा तादाद में लोग जमा होने से  वायरस के बढ़ने की आशंका हो जाती है इसी के चलते डॉक्टर भी सुझाव देते हैं कि अच्छे से थोड़ी थोड़ी देर के बाद हाथ में और अपने आप को साफ रखें। 

इस सबके चलते आज जनता कर्फ्यू के चलते अलग-अलग राज्यों की पुलिस के अलग-अलग तरह के चेहरे देखने को मिले। उत्तर प्रदेश में कई जगहों पर रोड पर आते जाते लोगों पर लाठियां बरसाते पुलिसवाले नजर आए। वहीं इसका दूसरा चेहरा राजधानी दिल्ली में दिखाई दिया जहां पर रोड पर आते जाते लोगों से निवेदन करते पुलिस वाले नजर आए और उनको फूल देते नजर आए और अपील की कि वह अपने घरों में रहे। 

दिल्ली पुलिस ने साथ ही सड़क पर आते जाते लोगों कोसड़क पर आते जाते लोगों को फूल के साथ साथ मांस और सैनिटाइजर से हाथ भी साफ करवाएं

भिन्न-भिन्न राज्यों में पुलिस एक जैसी परंतु कार्य करने का तरीका विभिन्न कोई लाठी मार के जनता से करता है अपील तो कोई फूल देकर जनता से करता है निवेदन।

दिल्ली पुलिस और उत्तर प्रदेश की पुलिस में यह दिन और रात जैसा व्यवहार जनता के प्रति देखने के बाद पुलिसिंग के ऊपर कई सवाल खड़े होते हैं जवाब आप सबको पूछना है।