ALL Crime Politics Social Education Health
डॉक्टर्स को मोमबत्ती की नहीं, अपनी जान बचाने के लिए दस्ताने और मास्क की ज़रूरत हैः स्वरा भास्कर
April 4, 2020 • M Rizwan • Health

मोदी जी डॉक्टर्स को मोमबत्ती की नहीं, अपनी जान बचाने के लिए दस्ताने और मास्क की ज़रूरत हैः स्वरा भास्कर


04/04/2020  M RIZWAN 

दुनियाभर में कहर ढ़ाने वाला कोरोना वायरस भारत में भी तेज़ी से फैल रहा है। अब तक 2900 लोग इसकी चपेट में आ चुके हैं, वहीं 71 लोगों की इस वायरस ने जान ले ली है। इतने ख़तरनाक वायरस से लड़ने के लिए डॉक्टर्स अपनी जान ख़तरे में डालकर लोगों का इलाज कर रहे हैं।

बताया जा रहा है कि भारत में अबतक तकरीबन 50 अस्पतालकर्मी (डॉक्टर और नर्स) कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं। ये सारे लोग कोरोना से संक्रमित बीमारों का इलाज करने के दौरान हुए हैं। यानी अस्पतालों में संक्रमण को रोकने के लिए सुरक्षा के पुख्ता इंतेज़ाम नहीं हैं। डॉक्टर्स शुरुआत से ही इस बात की मांग कर रहे हैं कि उन्हें कोरोना संक्रमित मरीज़ों का इलाज करने के लिए सुरक्षित उपकरण मुहैया कराए जाएं।

बिहार में तो डॉक्टर्स इस मांग को लेकर हड़ताल तक कर चुके हैं। लेकिन इसके बावजूद डॉक्टर्स को उपकरण मुहैया नहीं कराए जा रहे। सरकार डॉक्टर्स की जान ख़तरे में डालकर इवेंट्स के ज़रिए उनका मनोबल बढ़ाने की दम भर रही है।

वह कभी ताली-थाली तो कभी मोमबत्ती के ज़रिए डॉक्टर्स का मनोबल बढ़ाने की कोशिश कर रही है। लेकिन क्या ऐसा संभव है, डॉक्टर्स को जिस चीज़ की सख़्त ज़रूरत है, उसे मुहैया न कराने के बजाए इवेंट का आयोजन कर उनका मनोबल बढ़ाया जा सकता है?

क्या ताली-थाली पीटने और मोमबत्ती जलाने से डॉक्टर्स को कुछ मदद मिल सकती है? क्या इससे वह मरीज़ और अपनी जान बचा सकते हैं? निश्चित तौर पर नहीं। उन्हें कोरोनो संक्रमित मरीज़ो का इलाज करने के लिए PPE सूट, मास्क, ग्लव्स और सेनिटाइज़र जैसी सुरक्षा सामग्री की ज़रूरत है, जो सरकार उन्हें मुहैया नहीं करा रही।

बॉलीवुड एक्ट्रेस स्वरा भास्कर ने सरकार के इस रवैये पर तीखी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा, “थाली बजाएँ, ताली बजायें, दिये जलाएँ, टॉर्च चलाएँ सब करें.. बस याद रखें कि अस्पतालों में डॉक्टर, नर्सेज़ और मेडिकल कर्मचारी हैं जिन्हें इन प्रदर्शन से ज़्यादा ग्लव, मास्क इत्यादि अपनी सुरक्षा की सामग्री चाहिए अपनी जान बचाने के लिए ताकि वो #Corona से देश को बचा पाएँ!”

बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी ने देशवासियों से अपील की है कि वो कोरोना संकट से लड़ने के लिए 5 अप्रेल को रात 9 बजे तमाम लाइट को बंद कर अपने-अपने घर बालकनियों में या छत पर जाकर मोमबत्ती, दिया या टार्च जलाएं।