ALL Crime Politics Social Education Health
दिल्ली विधानसभा चुनाव में आए उत्तर प्रदेश से 10000 होमगार्ड जवान, जिला कमांडेंट ऑफिसर चंदन सिंह से खास बातचीत।
February 10, 2020 • मोंटू राजा

दिल्ली विधानसभा चुनाव में आए उत्तर प्रदेश से 10000 होमगार्ड जवान, जिला कमांडेंट ऑफिसर चंदन सिंह से खास बातचीत

• अपने जवानों के हौसले को बढ़ाने के लिए प्रतिबंध और अग्रसर हूं।

• बचपन से ही इच्छा थी कि समाज और लोगों के लिए कार्य करूं, और खाकी से लगाव था जिसके चलते खाकी विभाग में आया।

• दिल्ली में हुए विधानसभा चुनाव में पूरी निष्ठा व कड़ी मेहनत से हमने चुनावों के दौरान विभिन्न क्षेत्रों में हमने ड्यूटी करी, आने वाले समय में भी सरकार द्वारा दी गई जिम्मेदारियों को बखूबी निभाएंगे।

दिल्ली में विधानसभा चुनाव 8 फरवरी 2020 को सकुशल हुए, साथ ही कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए हजारों की संख्या में पुलिसकर्मी व अन्य रक्षा दल तैनात थे।

उत्तर प्रदेश से 10000 होमगार्ड जवान दिल्ली के अलग-अलग थाना क्षेत्रों में तैनात किए गए जिनका नेतृत्व डिप्टी कमांडेंट जनरल श्री संतोष कुमार सुचारी ने किया। जिला कमांडेंट होने के नाते डीसीएच रैंक के अफसर चंदन सिंह फिलहाल उत्तर प्रदेश के कन्नौज जिले में कार्यरत हैं।

कमांडिंग ऑफिसर चंदन सिंह ने बताया की सरकार द्वारा दिए गए किसी भी टास्क को पूरा करना एक बहुत बड़ी जिम्मेदारी होती है। साथ ही हाल ही में दिल्ली विधानसभा चुनाव में जो 10000 होमगार्ड जवान दिल्ली आए उनको वहां से दिल्ली लाने तक और दिल्ली से वापस ले जाने तक की पूरी जिम्मेदारी हमारी होती है। बतौर कमांडिंग ऑफिसर मैं हमेशा अपने जवानों की हौसला अफजाई करता हूं और हर टास्क और काम को लेकर बहुत पॉजिटिव तरह से उस को अंजाम देता हूं।

डीसीएच चंदन सिंह ने बताया की पहले भी कई कार्यों में सरकार द्वारा दिए गए निर्देश के अंतर्गत हमने अपने जवानों के साथ कार्य को सकुशल किया है और आशा करते हैं सरकार द्वारा भविष्य में जो भी जिम्मेदारियां दी जाएंगी उनको हम परिपूर्ण और निष्ठा के साथ निभाएंगे।

डीसीएच चंदन सिंह ने जवानों से अपील की कि वह अपने अंदर सकारात्मक व पॉजिटिव एनर्जी को बरकरार रखें और अपने साथियों की हौसला अफजाई करें जिससे समाज और समाज के लोगों के लिए कानून व्यवस्था और अच्छे तरीके से की जा सके और जवानों का मनोबल बढ़े।

कमांडिंग ऑफिसर चंदन सिंह ने बताया कि दिल्ली और उत्तर प्रदेश के चुनाव में अगर विभिनता की बात की जाए, तो उत्तर प्रदेश में चुनावों के दौरान कार्य करना एक बड़ा टास्क होता है क्योंकि उत्तर प्रदेश में जनसंख्या ज्यादा है और रिमोट एरियाज ज्यादा है।