ALL Crime Politics Social Education Health
दिल्ली पुलिस द्वारा कोविड पेट्रोलिंग के लिए साउथ डिस्टिक मे उतारी गई 40 मोटरसाइकिल
April 2, 2020 • Montoo Raja

विश्व भर के कई देश कोविड-19 से प्रभावित है जिसे कोरोनावायरस भी कहा जाता है। कोविड-19 ने भारत में भी अपने पैर पसार लिए हैं। शुरुआती समय में कोविड-19 के केस कम सामने आ रहे थे, परंतु समय के साथ कोविड-19 के केसों में बढ़ोतरी देखी जा रही है।

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के अंदर संपूर्ण नॉक डाउन घोषित कर दिया है सरकार के द्वारा 14 अप्रैल 2020 तक यह लोग डाउन रहेगा। इस सबके चलते प्रशासन लोगों की काफी मदद करता दिख रहा है। और लोगों से अपील करता भी नजर आ रहा है।

राजधानी दिल्ली के अंदर कोविड-19 के प्रकोप से लोगों को बचाने के लिए दिल्ली पुलिस बड़ी भूमिका निभाती नजर आई। दिल्ली के हर जिले के अंदर दिल्ली पुलिस लोगों को जागरूक कर रही है लोगों से अपील कर रही है कि वह अपने अपने घरों में रहे और लोग डाउन का पालन करें। व कई जगहों पर दिल्ली पुलिस सीनियर सिटीजन स्कोर राशन पहुंचाती भी नजर आई।

दिल्ली के अंदर अन्य राज्यों के बसे लोगों के लिए दिल्ली पुलिस ने भोजन की व्यवस्था भी की और लोगों के बीच जाकर खान पीन भी प्रदान किया।

इस सबके चलते आज दिल्ली के साउथ डिस्टिक मैं एक अनोखी पहल की गई जिसमें 40 पेट्रोलिंग मोटरसाइकिल चालू की गई जिसका नाम कोविड पेट्रोलिंग रखा गया है। दिल्ली पुलिस के साउथ डिस्ट्रिक्ट डीसीपी अतुल कुमार ठाकुर द्वारा यह पहल की गई जिसकी सराहना ज्वाइन कमिश्नर देवेंद्र चंद्र श्रीवास्तव ने भी की व पुलिस कर्मियों का हौसला बढ़ाया।

इस पहल के साथ ज्वाइंट कमिश्नर देवेंद्र चंद्र श्रीवास्तव ने कुछ अहम पहलुओं पर भी खासा ध्यान देने को तवज्जो दी। 

• जिले के हर क्षेत्र में पेट्रोलिंग की जाए वह जनता को सूचना वह जागरूक किया जाए। और लोगों से घरों में रहने की अपील की, और क्षेत्र में लॉक डाउन का पूरी तरह पालन हो।

• जिले के बॉर्डर बस जिले के अंदर गाड़ियों की शक्ति से चेकिंग की जाए नाका बंदी पर जा रही गाड़ियों पर खासा ध्यान दिया जाए। वे यह भी देखा जाए कि किसी तरह की कोई भीड़ ना जुटे।

• कोविड पेट्रोलिंग बाइक के द्वारा यह भी सुनिश्चित किया जाए की सड़क पर बिना काम के लोगों का मूवमेंट ना हो और अगर ऐसे व्यक्ति पाए जाते हैं तो उन्हें शेल्टर होम भेजा जाए।

• क्षेत्र में ट्रक टेंपो टैंकर आदि पूर्ण रूप से चेक किए जाएं और यह भी देखा जाए कि किसी तरह का कोई कानून का उल्लंघन गाड़ियों द्वारा ना किया जाए।

• क्षेत्र में जो भी सब्जी की दुकानें दूध की दुकानें कराना की दुकान है इत्यादि पर मार्किंग की जाए और लोगों के बीच सोशल डिस्टेंसिंग बनाई रखी जाए।

• साथ ही पेट्रोलिंग के दौरान पुलिसकर्मी विजिलेंस बढ़ाते हुए क्राइम और क्रिमिनल पर भी नजर रखेंगे।