ALL Crime Politics Social Education Health
दिल्ली के शाहीन बाग में 45 दिन बाद भी जनता में आक्रोश!
February 1, 2020 • मोंटू राजा

• बीजेपी के नेताओं ने शाहीन बाग को दिया पाकिस्तान करार।

• 45 दिन बाद भी जनता में आग, सरकार नहीं मानने को तैयार।

दिल्ली के शाहीन बाग में पिछले 45 दिनों से एनआरसी और सीएए को लेकर जनता प्रदर्शन कर रही है यहां ज्यादातर महिलाएं और बच्चे शामिल हैं। धरना प्रदर्शन में अलग-अलग राज्यों से भी लोग आकर शामिल हो रहे हैं, कई अन्य राज्यों से आए लोग किसी न किसी राजनीतिक पार्टी से भी ताल्लुक रखते हैं।

बीजेपी के दिग्गज नेताओं ने कुछ भड़काऊ भाषण दिए हैं जिससे शाइन बाग में कर रहे प्रदर्शनकारी काफी आक्रोश में है हाल ही में जामिया नगर में प्रोटेस्ट कर रहे युवक पर जो गोली चलाई गई है उसके संदर्भ में लोगों का कहना है कि यह सोची-समझी आर एस एस की चाल है जो हिंदू मुस्लिम भाईचारे को तोड़कर नफरत का बीज बोना चाहती हैं।

लोगों का कहना है कि सरकार सांप्रदायिक भावना भड़काना चाहती है, यहां तक बीजेपी के बड़े नेताओं ने साइन बाग को पाकिस्तान भी करार दे दिया है। जिससे वहां प्रदर्शन कर रहे लोग काफी नाखुश हैं प्रदर्शन कर रही जनता का कहना है कि सरकार की तरफ से अभी तक कोई भी सरकार का नुमाइंदा उनसे संवाद करने नहीं आया है। और सरकार को यह सोचना चाहिए कि शाहीन बाग में देश की माताएं बहने बेटियां धरना प्रदर्शन कर रही हैं और सरकार उनके बारे में कुछ नहीं सोच रही है वैसे तो सरकार का कहना है कि वह हमेशा देश की नारी के साथ है लेकिन इसका उलट साइन बाग में देखने को मिल रहा है।

प्रदर्शनकारी जनता ने बताया की 30 जनवरी 2020 को आज के गोडसे को गांधीवादी सोच को मारने के लिए आर एस एस. ने भेजा। लोगों ने यह भी कहा कि यह आर एस एस का आतंकवाद है जो हिंदुस्तान में देखने को मिल रहा है और साफ तौर पर असमानता देखने को मिल रही है।

जनता से बात करने पर यह बात सामने आई है कि‌ सीएए और एनआरसी का प्रदर्शन तब तक जारी रहेगा जब तक सरकार इस कानून को रद्द नहीं कर देती या फिर सरकार साइन बाग में प्रोटेस्ट कर रहे लोगों से बात कर कोई बीच का रास्ता नहीं निकालती।