ALL Crime Politics Social Education Health
7 साल बाद गिरफ्त में आया हत्‍यारा, बाबा बन पुलिस को दे रहा था चकमा
February 27, 2020 • आशू यादव

*7 साल बाद गिरफ्त में आया हत्‍यारा, बाबा बन पुलिस को दे रहा था चकमा*
<_________________>

*बांदा पुलिस (Banda Police)* *ने एक हत्यारे बाबा को गिरफ्तार किया है, जो कि सात साल पहले हुई एक हत्‍या के मामले में वांछित था. जबकि बंगाली उर्फ शंकर नाम के अभियुक्त पर बांदा समेत कई जिलों में मामले दर्ज हैं.*
*बांदा. उत्‍तर प्रदेश के बांदा जिले (Banda District) में पुलिस ने एक हत्यारे बाबा को गिरफ्तार* *किया है. वह सात पहले एक युवक की हत्‍या करने के बाद फरार हो गया था और फिर साधु बनकर पुलिस को गुमराह कर रहा था, लेकिन वह अब पुलिस (Police) की गिरफ्त में है.* *आपको बता दें कि पैलानी थाना क्षेत्र के अंतर्गत पडवन गांव में 7 साल पहले एक युवक की ईंट से कुचल कर निर्मम हत्या करने के बाद वह फरार हो गया था. यही नहीं, पुलिस की गिरफ्त में आए अरोपी के ऊपर बांदा और फतेहपुर जनपद में भी कई मामले दर्ज हैं.*
_____________________
    
*7 साल बाद गिरफ्त में आया हत्‍यारा, बाबा बन पुलिस को दे रहा था चकमा*
*बांदा पुलिस (Banda Police) ने एक हत्यारे बाबा को गिरफ्तार किया है, जो कि सात साल पहले हुई एक हत्‍या के मामले में वांछित था. जबकि बंगाली उर्फ शंकर नाम के अभियुक्त पर बांदा समेत कई जिलों में मामले दर्ज हैं.:*
*7 साल बाद गिरफ्त में आया हत्‍यारा, बाबा बन पुलिस को दे रहा था चकमा*


*बांदा. उत्‍तर प्रदेश के बांदा जिले (Banda District) में पुलिस ने एक हत्यारे बाबा को गिरफ्तार किया है. वह सात पहले एक युवक की हत्‍या करने के बाद फरार हो गया था और फिर साधु बनकर पुलिस को गुमराह कर रहा था, लेकिन वह अब पुलिस* *(Police) की गिरफ्त में है. आपको बता दें कि पैलानी थाना क्षेत्र के अंतर्गत पडवन गांव में 7 साल पहले एक युवक की ईंट से कुचल कर निर्मम हत्या करने के बाद वह फरार हो गया था. यही नहीं, पुलिस की गिरफ्त में आए अरोपी के ऊपर बांदा और फतेहपुर जनपद में भी कई मामले दर्ज हैं.*

 

*साधु बनकर रहे रहा था बंगाली*
*विज्ञापन*

*बंगाली उर्फ शंकर नाम का अभियुक्त निर्मम हत्या करने के बाद पुलिस से बचने के लिए अपना भेष बदलकर बांदा, महोबा, हमीरपुर, चित्रकूट व अन्य जनपदों में रह रहा था. यही नहीं, पिछले कुछ दिनों से बांदा में ही हत्यारा अघोरी साधु के रूप में शहर कोतवाली के अंतर्गत कनवारा रोड में रह रहा था. हालांकि बाबा के भेष में वह तमाम लोगों को संदिग्ध लगता था और आसपास के गांव के साथ पुलिस में चर्चा का विषय बना हुआ था. जबकि मुखबिर से जानकारी मिलते ही एसपी सिद्धार्थ शंकर मीरा ने एसओजी टीम को इस खुलासे में लगाया. एसओजी टीम की छापेमारी के दौरान बाबा पुलिस को देखकर भागने लगा, लेकिन उसे गिरफ्तार कर लिया गया है. जबकि उसने अपने सारे जुर्म स्‍वीकार कर लिए हैं.*

*बाबा भेजा गया जेल*
*मामले की जानकारी देते हुए* *एसपी बांदा सिद्धार्थ शंकर मीणा ने बताया कि जनपद में अपराध और अपराधियों पर लगाम लगाने के लिए निरंतर योजनाबद्ध तरीके से अपराधियों की धरपकड़ के लिए टीमें लगी रहती हैं. जबकि एसओजी टीम ने भी कई मामलों में वांछित चल रहे बाबा को दौरान गिरफ्तार किया है. पूछताछ में अभियुक्त ने स्वीकार किया है कि 7 वर्ष पूर्व पैलानी थाना क्षेत्र के पडवन गांव में हत्या की वारदात को अंजाम दिया था. उस पर 59/13 धारा 302 के साथ कई मामले दर्ज हैं. फतेहपुर और बांदा के थानों में आरोपी अघोरी बाबा के ऊपर कई मामले दर्ज हैं. आरोपी बाबा फतेहपुर जनपद के ललौली थाना क्षेत्र के बघेलान का मूल निवासी रहने वाला है.*