ALL Crime Politics Social Education Health
6 निर्मम हत्याकांड को अंजाम देकर, आरोपी पिता-पुत्र खुद ही पहुंचे थाने
May 1, 2020 • आशू यादव

*आशू यादव की खास रिपोर्ट SUB Bureau Chief Kanpur*✒️✒️
➖➖➖➖➖➖➖➖
     *भ्रष्टाचार और जुर्म के खिलाफ हर पल आपके साथ*
➖➖➖➖➖➖➖➖


*6 निर्मम हत्याकांड को अंजाम देकर आरोपी पिता-पुत्र खुद ही पहुंचे थाने, किया आत्मसमर्पण। बंथरा थाना क्षेत्र में अजय ने बेटे के साथ मिलकर अपने माता-पिता, भाई-भाभी व भतीजा-भतीजी को गड़ासे से काट डाला था*
   

*युवक ने परिवार के 6 लोगों को गड़ासे से काट डाला, गांव वालों के अनुसार बेटे के साथ मिलकर की हत्याएं*

*युवक ने परिवार के 6 लोगों को गड़ासे से काट डाला, गांव वालों के अनुसार बेटे के साथ मिलकर की हत्याएं*

*मां, भाई-भाभी, भतीजे-भतीजी को गुंदौली गांव में और पिता को उन्नाव जिले की सीमा में उतारा मौत के घाट*

*वारदात को अंजाम देकर खुद जा पहुंचा थाने, बेटा फरार*

*लखनऊ।* *लाॅकडाउन के बीच *आज शाम राजधानी के ग्रामीण क्षेत्र बंथरा के गुंदौली गांव में एक* *युवक ने परिवार के पांच लोगों की और सीमा से सटे उन्नाव जिले में पिता की हत्या कर दी। दिल दहला देने वाले इस सामूहिक हत्याकांड में लखनऊ के बंथरा थाना क्षेत्र के गुंदौली गांव निवासी* *अजय सिंह नामक युवक ने एक बाग में अपने भाई-भाभी और उनके दो मासूम बच्चों की धारदार हथियार से गला काटकर हत्या कर दी जबकि गांव से सटे उन्नाव जिले की सीमा में अपने पिता को *भी मौत के घाट उतार दिया।*


*सामूहिक हत्याकांड के बाद अजय घर पहुंचा और दरवाजे पर* *बैठी मां का भी गला रेत दिया। इसके बाद खून से लथपथ हालत में थाने जाकर खुद को पुलिस के हवाले कर दिया। हत्याकांड की जानकारी मिलते ही पुलिस के होश उड़ गए। इलाके में सनसनी फैल गई। पुलिस आयुक्त सुजीत पांडेय समेत अन्य आला अधिकारियों ने घटनास्थल पर पहुंचकर मामले की जानकारी ली।


*ग्रामीणों का कहना है कि वारदात में अजय के साथ उसका बेटा अंकित भी शामिल था। देर रात तक अंकित का पता नहीं चल सका था। पुलिस अजय से पूछताछ के साथ ही अंकित की तलाश कर रही है। पुलिस आयुक्त ने बताया कि वारदात शाम करीब 7 बजे हुई। अजय सिंह का पिता व परिवार के सदस्यों से संपत्ति को लेकर विवाद चल रहा था। शाम को अजय के 60 वर्षीय पिता अमर सिंह अपने छोटे बेटे 40 वर्षीय अरुण, उसकी पत्नी रामसखी और नौ साल के बेटे सौरभ व दो साल की बेटी सारिका के साथ खेत में फसल काट रहे थे।


*प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार, इसी दौरान अजय और अंकित बांका लेकर वहां आ गए और हमला बोल दिया, परिजन जान बचाने के लिए भागे तो अजय और अंकित ने उन्हे खदेड़ लिया और पास स्थित एक बाग में बांके से वार कर सभी को मौत के घाट उतार दिया। इसके बाद दोनों अमर सिंह के घर पहुंचे और वहां दरवाजे पर बैठी 58 साल की मां राम दुलारी की गर्दन रेत दी। राम दुलारी ने भी मौके पर ही दम तोड़ दिया। हत्याएं करने के बाद अजय खून से सने कपड़ों में थाने जा पहुंचा।


*ग्रामीणों का कहना है कि अंकित मौके से भाग गया जबकि अजय खून से सने कपड़ों में थाने पहुंचा और खुद को पुलिस के हवाले कर दिए। उसने माता-पिता समेत छह लोगों की हत्या की जानकारी दी तो पुलिसकर्मियों के होश उड़ गए। उसे तुरंत हिरासत में लेकर* *इंस्पेक्टर ने आला अधिकारियों को वारदात की सूचना दी। पुलिस आयुक्त सुजीत पांडेय, संयुक्त पुलिस आयुक्त (कानून-व्यवस्था) नवीन अरोड़ा समेत अन्य अफसरों ने मौके पर पहुंचकर अजय से पूछताछ की। अधिकारियों का कहना है कि अभी पूरी तरह ये नहीं कहा जा सकता कि हत्याओं के पीछे संपत्ति विवाद ही है, मामले की जांच की जा रही है।*