ALL Crime Politics Social Education Health
5 महीने बाद भी *नाबालिग छात्रा की मौत की गुत्थी नहीं सुलझी, मां ने की CBI जांच की मांग
February 15, 2020 • Shadab Hasan

*मैनपुरी: 5 महीने बाद भी *नाबालिग छात्रा की मौत की गुत्थी नहीं सुलझी, मां ने की CBI जांच की मांग*
*छात्रा की मां अब अपनी गुहार लेकर आई रेंज कानपुर के दफ्तर पहुंची हैं. उनका कहना है कि इस मामले में जांच के अलावा और कुछ नहीं हो रहा है*
 ________________________


*कानपुर. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मैनपुरी (Manpuri) के भोगांव में पांच महीने पहले 11वीं क्लास में पढ़ने वाली छात्रा नवोदय विद्यालय (Navodaya Vidyalaya) में मृत पाई गई थी. परिजनों ने छात्रा की रेप के बाद हत्या करने का आरोप लगाया था. इस मामले को लेकर काफी सियासत हुई थी. लेकिन कई महीने बीत जाने के बाद भी छात्रा की मौत की गुत्थी आज तक सुलझ नहीं सकी है. अब आई रेंज कानपुर से अपनी गुहार लेकर छात्रा की मां कानपुर दफ्तर पहुंची हैं. उनका कहना है कि जांच के अलावा और कुछ नहीं हो रहा है.*

*इस मामले में दिसंबर, 2019 को एसआईटी का गठन किया गया था लेकिन फिर भी अभी जांच में कुछ सामने नहीं आया है. पीड़ित परिवारवालों ने आरोप लगाया कि किसी दबाव में जांच ठीक से नहीं हो पा रही है. अब परिवार सीबीआई जांच की मांग कर रहा है, जिससे दोषी को सजा मिल सके*
_________________________

*पुलिस पर लगाए गंभीर आरोप*
*उनका ये भी आरोप है कि कई* *बार पुलिस ने इस हत्या को सुसाइड दिखाने की कोशिश की* *है. परिवारवालों का आरोप है कि जांच के नाम पर उनके रिश्तेदारों और मिलने वालों को ही ज्यादा परेशान किया जा रहा है और पांच महीने मे पुलिस किसी नतीजे तक नहीं पहुंची है.*

*मामले में एसपी पर गिर चुकी है गाज*
*बता दें कि इस मामले पर शुरू से ही जांच और पूरे प्रकरण में* *पुलिस और प्रशासन पर कई सवाल उठे थे. जिसमें परिजनों को बिना सूचना दिये स्कूल में लड़की के शव को फंदे से उतार लिया जाना और घटनास्थल को सीज न किया जाना, साथ ही पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में चोटों के निशान होने के बावजूद चोट का जिक्र न होना जैसे गंभीर आरोप लगे थे. जिसके बाद शासन ने पुलिस अधीक्षक (एसपी) पर कार्रवाई की थी.*
*इस मामले पर आईजी मोहित अग्रवाल ने कहा कि पूरे प्रकरण की गंभीरता से जांच की जा रही है. जिसके लिये रिपोर्ट को एम्स के लिये भी भेजा गया है. अगर पुलिस किसी परिणाम तक नहीं पहुंचती तो इस मामले को सीबीआई के लिये रेफर किया जायेगा.*