ALL Crime Politics Social Education Health
45 लाख की चोरी, 24 घंटे के अंदर चोर पुलिस की गिरफ्त में
March 12, 2020 • Montoo raja

• 45 लाख की चोरी करने के बाद फरार चोर 24 घंटे के अंदर पुलिस की गिरफ्त में।

• पुलिस ने अभी तक 2600000 रुपए चोरों के पास से बरामद की है जोकि शिखेरा गांव उत्तर प्रदेश और न्यू उस्मानपुर दिल्ली से बरामद किए गए हैं।

• मकान तोड़ने के औजार और टूटी हुई इलेक्ट्रॉनिक सेफ भी बरामद।

 

दिल्ली

दिल्ली शाहदरा डिस्टिक के अंतर्गत गांधी नगर मार्केट में स्थित एक दुकान में हुई 45 लाख की चोरी। जिसके बाद दुकान के मालिक अमित अग्रवाल ने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई अमित अग्रवाल की दुकान अशोक गली गांधी नगर में स्थित है जोकि होलसेल अंडर गारमेंट का काम करते हैं। 5 मार्च 2020 कि सुबह 7:30 बजे जब वह दुकान पर पहुंचे तो उन्होंने दुकान का ताला टूटा पाया जिसके बाद दुकान के अंदर जाने पर उन्होंने गल्ले से ₹1700000 चोरी पाए साथ ही दूसरी मंजिल पर 2800000 रुपए एक इलेक्ट्रॉनिक सेफ में रखे थे जोकि सेफ समेत गायब थे। यह राशि कुल ₹4500000 की थी।

सूचना प्राप्त होने के बाद पुलिस ने शिकायत दर्ज कर तफ्तीश शुरू की तफ्तीश के दौरान दुकान में काम कर रहे हर एक व्यक्ति से पुलिस ने पूछताछ करी। क्षेत्र एसीपी थाना एसएचओ सहित टीम ने तफ्तीश शुरू करी गुप्त सूचना प्रदान करने वाले व्यक्तियों को सक्रिय किया वह सीसीटीवी फुटेज में छानबीन करनी शुरू की जिसके पश्चात पुलिस को एक्टिव मिली उस टिप के आधार पर पुलिस ने पुनीत उम्र 20 पुत्र हीरा सिंह निवासी गांव शहर थाना बहादुरगढ़ जिला हापुर उत्तर प्रदेश को अपनी हिरासत में लिया। जिसके बाद पुलिस ने पुनीत से पूछताछ शुरू की काफी मशक्कत के बाद पुनीत ने अपना एक बालक जुर्म कबूल किया और पूरे षडयंत्र के बारे में पुलिस को बताया।

पुनीत ने बताया कि वह पिछले 3 महीने से एक दुकान में काम कर रहा था और उसका दोस्त राहुल है जिसने उसकी मदद की इस नौकरी को प्राप्त करने में जो किराए के मकान पर न्यू उस्मानपुर दिल्ली में रह रहा था काम के दौरान राहुल और पुनीत ने पता लगाया कि श्री राधे ट्रेडर जोकि अमित अग्रवाल चलाते हैं वह काफी भारी मात्रा में अपने ऑफिस व दुकान में भारी मात्रा में नगदी रखते हैं।

जिसके बाद इन दोनों युवकों ने मिलकर अपने दो और दोस्त पुष्पेंद्र और सुमित को इसके बारे में बताया और इन चारों ने मिलकर चोरी का प्लेन बनाया, राहुल और पुनीत ने यह भी बताया कि वह एक दुकान में सेल्समैन का काम करते थे। लाइन बनने के पश्चात पुष्पेंद्र और सुनील खिड़की से शॉप में दाखिल हुए और गल्ले से ₹1700000 की नगदी चोरी की उसके पश्चात दूसरी मंजिल पर रखी इलेक्ट्रॉनिक अलमारी को वह खोलने में असमर्थ रहे जिसके बाद उस इलेक्ट्रॉनिक सेफ को वह अपने साथ ले गए। जिसके बाद यह चारों आरोपी शिवकुटी पहुंचे जहां पर पुलिस का सायरन सुनने के बाद वह दोबारा वहां से भागी और इस बीच पुनीत अलग हो गया और बच्चे तीन आरोपी सेफ को लेकर यमुना खादर की झाड़ियों में नियर गीता कॉलोनी पहुंचे और सेफ को तोड़कर पैसे निकाल लिए।

पुलिस की पूछताछ जारी