ALL Crime Politics Social Education Health
सूरत कटिंग और पॉलिशिंग उद्योग में मंदी
September 25, 2019 • Montoo raja

सूरत कटिंग और पॉलिशिंग उद्योग में मंद

सूरत कटिंग और पॉलिशिंग उद्योग में मंदी: हीरा श्रमिक संघ सहायता मांगने के लिए सीएम से समय मांगता है।
मंदी के इस दौर में अब सूरत हीरा श्रमिको के ऊपर मंदी का असर देखने को मिल रहा है। राज्य सरकार से मदद कि लगाई गोहार। 
एसोसिएशन का कहना है कि मंदी के कारण पिछले छह महीनों में बिछाए गए पांच हीरे के पॉलिशरों ने अपना जीवन समाप्त कर लिया था।
सूरत रत्न कलकार संघ (सूरत डायमंड वर्कर्स एसोसिएशन) के अध्यक्ष जयसुख गजेरा ने मंगलवार को मुख्यमंत्री विजय रूपानी को पत्र लिखकर नियुक्ति की मांग की। “अगर हमें मुख्यमंत्री रूपानी से मिलने की अनुमति मिलती है, तो हम हीरा उद्योग की स्थिति और हीरे के पॉलिशरों और उनके परिवार के सदस्यों की दयनीय स्थिति के बारे में बताएंगे। हम राज्य सरकार से अनुरोध करेंगे कि वह हीरा पालकों के लिए कुछ राहत पैकेज की घोषणा करे।
उन्होंने कहा, “पिछले छह महीनों में, शहर में पांच हीरे पॉलिशरों ने आत्महत्या की है। वे सौराष्ट्र से आते हैं और हीरे की फैक्ट्री में काम करके जीविका कमाने के लिए अपने परिवार के साथ सूरत आए थे। मंदी के साथ, कारखाने के मालिकों ने या तो मजदूरी कम कर दी या श्रमिकों को बंद कर दिया, जबकि कुछ कारखाने बंद भी हो गए।