ALL Crime Politics Social Education Health
पहले 10 साल जीता भरोसा, फिर डकारे 92 लाख रुपए
October 5, 2019 • मोंटू राजा

पहले 10 साल जीता भरोसा, फिर डकारे 92 लाख रुपए।
अपनी पत्नी के नाम पर कंपनी का बैंक अकाउंट खोलकर पैसे को किया सेटल।
दिल्ली रोहिणी पुलिस ने अमित गौर उम्र 35 निवासी भजनपुरा दिल्ली और उसकी पत्नी रेनू उम्र 34 निवासी भजनपुरा दिल्ली को गिरफ्तार किया है।
दोनों पर आरोप है एक पूरे षडयंत्र के तहत एक कंपनी मालिक को ₹9200000 का चूना लगाया गया।


नीलिमा लूथरा जिनकी फैक्ट्री एमएस स्टार रेक्सीन रिठाला गांव दिल्ली में है। जिसमें कोटेड फैब्रिक का काम होता है। सारा कारोबार अपने पति तिलक राज लूथरा के बाद नीलिमा ही संभाल रही थी क्योंकि पति की उम्र ज्यादा हो गई है जिसके कारण वह ज्यादा ध्यान कारोबार पर नहीं दे पा रहे हैं।
10 साल से कंपनी में अकाउंटेंट के तौर पर काम कर रहे आरोपी अमित गौर पर 9200000 रुपए के घोटाले का आरोप लगा।
10 साल से काम करने के बाद अमित गौर ने मालिक का विश्वास जीत लिया था जिसके चलते अमित ने अपने एक दोस्त और पत्नी के साथ मिलकर एक षड्यंत्र रचा।
10-01-2019 अमित गौर ने नौकरी से अचानक इस्तीफा दे दिया और किसी अन्य सदस्य को कंपनी के अकाउंट दस्तावेज की पुष्टि नहीं कराई। जब कंपनी ने नया अकाउंटेंट रखा और दस्तावेज की जांच हुई तब पता चला की अकाउंट में कुछ गड़बड़ है।
कंपनी के वेंडर से जब कंपनी ने अपना बकाया पैसा मांगा तो जवाब में वेंडर ने बताया कि वह पहले ही कंपनी के बैंक अकाउंट में पैसे डाल चुका है। पर कंपनी मालिक ने जब बैंक अकाउंट चेक किया तो उसमें कोई रकम नहीं प्राप्त हुई थी। बैंक अकाउंट कंपनी के नाम स्टार रेक्सीन के नाम से ही खोला गया था।


पुलिस को सूचना देने के बाद पुलिस ने जब छानबीन की तो सामने आया की अमित गौर ने अपनी पत्नी को कंपनी का प्रोपराइटर बताकर चांदनी चौक में स्थित डीसीबी बैंक में स्टार रेक्सीन कंपनी के नाम से अकाउंट खुलवाया जिसमें अमित गौर ने वेंडर से पैसे प्राप्त किए।
पुलिस ने यह जानकारी प्राप्त कर 29/08/19 को एफ आई आर दर्ज कर ली और एक टीम का गठन कर पूछताछ और पड़ताल शुरू कर दी।
जिसके बाद पुलिस ने पता लगाया 92 लाख की ट्रांजैक्शन रेनू गौर के अकाउंट में हुई है, जो कंपनी के नाम से खुलवाया गया था।
पुलिस ने रेनू गौर और पति अमित गौर को हिरासत में लिया और पूछताछ की पूछताछ पर आरोपियों ने बताया इस पैसे से उन्होंने एक भजनपुरा दिल्ली में प्रॉपर्टी खरीदी और एक इको स्पोर्ट्स कार खरीदी साथ ही ₹1500000 अपने एक साथी मुकेश विशिष्ट के खाते में जमा किए। मुकेश विशिष्ट अभी पुलिस की गिरफ्त में नहीं है मुकेश वशिष्ठ अभी फरार है।
पुलिस मुकेश वशिष्ठ की तलाश में जुटी है और अमित गौर और रेनू गौर की खरीदी गई प्रॉपर्टी और गाड़ी को सीज कर लिया है।