ALL Crime Politics Social Education Health
गर्लफ्रेंड से दोस्ती पर.. करी दोस्त की हत्या...
October 7, 2019 • Montoo raja

• दोस्त की गर्लफ्रेंड के साथ दोस्ती करना पड़ा महंगा, दोस्त नहीं ली दोस्त की जान।

• हत्या कर फरार हो गया था... जिसके बाद रोहिणी डिस्टिक पुलिस ने दो युवकों को किया गिरफ्तार। 

29/09/19 
दिल से दोस्ती बढ़ने पर अपने दोस्त की चाकू मारकर करी हत्या। गिरिराज निवासी हरि एनक्लेव किरारी सुलेमान नगर दिल्ली जोकि पेशे से ठेकेदार हैं। 

अपने पुत्र राजकुमार उम्र 19 के साथ रात को खाना खाने के बाद घर के बाहर टहलने गया रास्ते में राजकुमार के दो दोस्त विनोद और विकास भी साथ में टहलने लगे, जिसके बाद मोनू उम्र 22 निवासी अमन विहार किरारी दिल्ली वहां पहुंचा और राजकुमार के पिता से बात करने के लिए उन्हें साइड में ले गया जिसके बाद दोनों में विवाद बढ़ा और मोनू ने कविराज को धक्का दे दिया। 
यह देख राजकुमार और उसके दो दोस्त गिरिराज की मदद करने के लिए बड़े, जिसके बाद मोनू ने चाकू निकालकर राजकुमार को तीन बार मारे इसके बाद राज्यपाल को तुरंत अस्पताल ले जाया गया और मोनू वहां से भागने में सफल रहा।


पुलिस कंप्लेंट होने के बाद पुलिस मोनू की तलाश में जुटी। राजकुमार अपने दोस्त चंदन उम्र 20 निवासी हरि एनक्लेव 2 किरारी दिल्ली के पास पहुंचा, और उसे बताया कि उसने राजकुमार को चाकू मार दिया है। और अपने खून के कपड़े और चाकू चंदन के घर छुपा दिया, जिसके बाद। 


चंदन मोनू को लेकर अपनी बहन निवासी सीलमपुर दिल्ली के घर गया, जहां उसने अपनी बहन से बताया कि वह दोनों वैष्णो देवी जा रहे हैं और उसने अपनी बहन से ₹2000 उधार लिए।

लेकिन पुलिस की मशक्कत के बाद पुलिस ने कई जगह छानबीन कर और अपने सूत्रों को तीव्र कर, और दोनों की तलाश शुरू करें जिसके बाद पुलिस ने रोहिणी सेक्टर 21 पार्क से दोनों को गिरफ्तार किया।


पुलिस की पूछताछ पर आरोपी ने बताया कि वह मेहंदी ही सप्लाई करता है। जिसके दौरान उसकी मुलाकात एक आर्टेस्ट महिला से हुई, और उस महिला के साथ प्यार हो गया, मोनू ने ही अपनी गर्लफ्रेंड से राजकुमार को मिलवाया था।

 जिसके बाद राजकुमार और महिला दोनों अच्छे दोस्त बन गए कुछ समय के बाद महिला ने मोनू से बात करना कम कर दिया और उसे इग्नोर करने लगी, जो कि मोनू को ना गवारा गुजरा और मोनू ने राजकुमार को चेतावनी दी कि वह महिला से दूर रहे उससे बात ना करें।
 
 राजकुमार ने मोनू की धमकी को हल्के में लिया, जिसके बाद मोनू ने चाकू से राजकुमार की हत्या कर दी और पुलिस ने मोनू और चंदन को अपनी गिरफ्त में लिया।
 
मोनू के ऊपर हत्या और चंदन के ऊपर सबूत छुपाने और उसका साथ देने के आरोप लगाकर दोनों को हिरासत में लिया है तफ्तीश में पता चला मोनू और चंदन जुए की वारदातों में भी शामिल रहे हैं।