ALL Crime Politics Social Education Health
क्राईम ब्रांच ने हथियारों के तस्कर को किया गिरफतार
September 24, 2019 • Montoo raja

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच हथ्यिारों की सप्लाई करने वाले शख्स को पकडा

मध्यप्रदेश से खरीदकर दिल्ली एनसीआर में करता था हथियारों की सप्लाई

पिछले एक साल में अब तक 100 से ज्यादा हथियारों की कर चुका था सप्लाई

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच को एक बडी सफलता हाथ लगी है। इस सफलता में क्राइम ब्रांच की टीम ने हथियार की सप्लाई करने वाले एक शख्स को गिरफ्तार किया है। साथ ही इसके पास से एक कार्बाइन 40 सेमी आॅटोमेटिक पिस्तौल और 20 मैगजीन बरामद किया गया है। मध्यप्रदेश से खरीदकर दिल्ली में हथियारों की सप्लाई करता था यह शख्स।

राजधानी दिल्ली में बीते कुछ दिनों में जिस तरह से स्ट्रीट क्राइम में हथियार के प्रयोग बढते जा रहे है, उसको ध्यान मे रखते हुए दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच की टीम ने एक विशेष अभियान छेड रखा था। इसी अभियान के तहत क्राइम ब्रांच की टीम को एक बडी सफलता हाथ लगी और इस सफलता में टीम ने हथियारों की सप्लाई करने वाले एक शख्स को गिरफ्तार किया है। दिल्ली पुलिस की गिरफ्त में खडा यह वही शख्स है, जिसको क्राइम ब्रांच की टीम ने हथियारों की सप्लाई करने के आरोप पकडा है। इस शख्स के पास से भारी मात्रा में हथियार और मैगजीन भी बरामद की गई है।

दरअसल दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच की टीम को सूचना मिली कि सोमवार देर रात एक शख्स हथियारों की सप्लाई के सिलसिले में गाजीपुर आ रहा है। जिसके बाद टीम ने गाजीपुर में जाल बिछाकर इस शख्स को आई 10 कार के साथ पकडा। क्राइम ब्रांच की टीम ने जब तालाशी ली तो कार में से एक कार्बाइन 40 सेमी आॅटोमेटिक पिस्तौल और 20 मैगजीन बरामद किया।

डीसीपी रामगोपाल नाईक के अनुसार यह शख्स दिल्ली एनसीआर में इन हथियारों की सप्लाई करने के मकसद से आया था। जानकारी के मुताबिक यह शख्स मध्यप्रदेश के एक गांव से हथियारों की खरीदारी कर दिल्ली एनसीआर में इसकी सप्लाई करता था। जानकारी के अनुसार यह शख्स मध्यप्रदेश से 10 से 15 हजार में हथियारों को खरीदकर 35 से 40 हजार रूपए में बेचा करता था। डीसीपी रामगोपाल नाईक के अनुसार यह शख्स पिछले एक साल से इस काम में लगा हुआ था, और अब तक यह करीब 100 से जयादा हथियारों की सप्लाई कर चुका था।

बहरहाल दिल्ली पुलिस के क्राइम ब्रांच की टीम द्वारा यह एक बडी सफलता मानी जा रही है। इसके अलावा टीम अभी आगे की तफ्तीश में जुटी हुई है। साथ ही हथियार को बनाने वाले मुख्य सरगना की भी तालाश की जा रही है।